Science Computer Exams Syllabus And Pattern / What is Science Computer Exam

Science Computer With Full Information

What is Science Computer 

दोस्तों आज मैं बताने वाला हूं कंप्यूटर साइंस क्या है। और इसके लिए हमें कौन सा कोर्स करना होगा और इसमें किस तरीके करियर के ऑप्शन है। हम सबसे पहले जाने के कंप्यूटर साइंस क्या है वह कंप्यूटर की बेसिक चीजें और इसके ऊपर अध्ययन या पढ़ाई करो कंप्यूटर साइंस का आ जाता है। कंप्यूटर साइंस के अंतर्गत और कंप्यूटर से जुड़े उपकरणों के बारे में अभी हम करा जाता हैइस फिल्म में सॉफ्टवेयर या सॉफ्टवेयर बनानेके प्रोसेस के ऊपर खासतौर पर फोकस किया जाता है। कंप्यूटर साइंस में इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर इंजीनियरिंग विपरीत काम करने के तेरी तरीके होते हैं इसमें केवल कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर ऑपरेटर सिस्टम से जुड़े कार्य किए जाते हैं। कंप्यूटर दो चीजों से जुड़ कर कर बनाया गया है। एक हार्डवेयर और दूसरा है। सॉफ्टवेयर कंप्यूटर इन दोनों के मिलाने पर एक काम करता है।

कंप्यूटर इंजीनियरिंग सभी तरह के हार्डवेयर के सिस्टम के बारे में पढ़ाया जाता है। और कंप्यूटर साइंस से के अंतर्गत है सिस्टम सॉफ्टवेयर मल्टीमीडिया एप्लीकेशन डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स डेटाबेस सिस्टम कंप्यूटर नेटवर्किंग के बारे में पढ़ाया जाता है। कंप्यूटर साइंस में सॉफ्टवेयर के अलावा एल्गोरिथ्म और थ्योरी लॉजिक डाटा स्ट्रक्चर और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के विषय भी शामिल होते हैं। कंप्यूटर साइंस में अध्ययन करने के प्रमुख क्षेत्रीय आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट से नेटवर्क डेटाबेस ह्यूमन कंप्यूटर इंस्ट्रक्शंस सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग विजन इन ग्राफिक और कंप्यूटर थ्योरी तो यह सभी अलग-अलग फील है| जिसमें छात्र अपनी रूचि के हिसाब से सब्जेक्ट को शूज करके पढ़ाई कर सकते हैं। कंप्यूटर साइंस की डिग्री हासिल करने के बाद एक छात्र कोड बना सकते हैं। प्रोग्राम को लिख सकते हैं। प्रोग्राम सॉल्विंग एल्गोरिथ्म बना सकते हैं। जिससे कि वह यह पता करते हैं। कि एक कंप्यूटर सिस्टम क्या कर सकता है और क्या नहीं कर सकता कंप्यूटर साइंटिस्ट हमेशा नया खोजने का प्रयास करते रहते हैं वह कंप्यूटर के द्वारा नई चीजें करवाने या करने के कुशलता से पूरा करने के लिए सॉफ्टवेयर बनाते हैं वेबसाइट बनाते हैं। और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम भी विकसित करते हैं और अब जानते हैं आगे कंप्यूटर सेंड सीखने के लिए कौन-कौन से कोर्स इस आपको करने होते हैं। जी हां आधुनिक युग में आज के टाइम में हर काम कंप्यूटर पर ही किया जाता है। लिहाजा इनको संचालित करने और संभालने के लिए डिमांड भी काफी बढ़ रही है। इसीलिए इस फिल्म में बेहतर करियर की ऑप्शन मौजूद है। जिनमें अपना करियर बनाया जा सकता है। कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करने के लिए आपको बहुत सारे कोशिश के ऑप्शन मिलेगा जो कंप्यूटर के फील्ड के बारे में मार्गदर्शन कर आते हैं। कंप्यूटर साइंस के क्वेश्चन आप ऑनलाइन या किसी किसी इंस्टिट्यूट में दाखिला लेकर पूरा कर सकते हैं। यहां पर हमने कुछ कोर्सेज के बारे में बताया है। जिन्हें आप कंप्यूटर साइंस से मैं स्टडी करने की के लिए चुन सकते हैं। पहला है। डिग्री कोर्स इन कंप्यूटर साइंस कंप्यूटर साइंस की डिग्री कोर्स में ऑफ अंडर ग्रेजुएटपोस्ट ग्रेजुएटऔर डॉक्टर की डिग्रीकी पढ़ाई कर सकते हैं। इन कोर्सेज को पूरा करने की समय सीमा 3 साल से 5 साल तक की होती है। अगर आप यूजी डिग्री के बाद पीजी की डिग्री भी पूरी  करना चाहते हैं। तो आपको 5 साल का समय लगेगा इसके अलावा अगर यूजी और पीजी करने के बाद डॉक्टरेट की डिग्री भीहासिल करना चाहते हैं। तो आपको पढ़ाई पूरी करने में 8 से 10 साल का समय लग सकता हैइन कोर्सेज में दाखिला लेने योग्यता की बात करें की यूजी में दाखिला लेने के लिए आपके पास 10th +2 की क्वालिफिकेशन होनी चाहिए जिसमें आपको सेंड सब्जेक्ट लेकर पढ़ाई करनी होगी तभी आप यूजी में कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई कर सकते हैं कंप्यूटर साइंस में ग्रेजुएट होने के लिए दो कोर्स होते हैं। एक होते हैं बीएससी कंप्यूटर साइंस और दूसरा होता है। बीसीए यानी बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन तो इन दोनों में से किसी एक कोर्स को आपको चूज कर करके ग्रेजुएशन की पढ़ाई करनी होती है। पीजी की डिग्री केलिएआपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए पीजी में एमएससी या एमसीएकी पढ़ाई करवाई जाती है। जिसने समय सीमा 2 साल की होती है डॉक्टरेट की डिग्री के लिए आपके पास पोस्टग्रेजुएट ग्रेजुएट की डिग्री होनी चाहिए इसमें पीएचडी की पढ़ाई करवाई जाती है। जिसकी समय सीमा3 से 5 साल की होती है भारत में कई सारी यूनिवर्सिटी है जहां पर कोर्स को करने के लिए दाखिला ले सकते हैंदूसरा है। डिप्लोमा कोर्स इन कंप्यूटर साइंसजिन बच्चों को कंप्यूटर साइंसकेस फील्ड मेंमहारत हासिल करनी है। लेकिन उन्हें यूजी और पीजी की पढ़ाई नहीं करनी है। तोवेट डिप्लोमा कीडिग्री हासिल करकेअपने सपनों को पूरा कर सकते हैंइस कोर्स में स्टूडेंटको कंप्यूटर साइंसऔर आईटी के फंडामेंटल पढ़ाई जाते हैं। इस कोर्स को किसी इंस्ट्रूमेंट यह या कॉलेज में दाखिला ले कर किया जा सकता है। Diploma का Course करने के लिए आपके पास कम से कम certificate of matriculation होना चाहिए और इस Course की समय सीमा 1 साल से 3 साल तक की है। Diploma की Degree के बाद बहुत सारी Job Profile पर काम कर सकते हैं। जिससे Program Technical Righter System Analyst Test Software इंजीनियर सॉफ्टवेयर आदि तो कंप्यूटर साइंस में करते टाइम बहुत सारे सब्जेक्ट को पढ़ाया जाता है जैसे एल्गोरिथ्म, वेब टेक्नोलॉजी, डाटा स्ट्रक्चर, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, डेटाबेस सिस्टम, कंप्यूटर नेटवर्क, मैथ और कंप्यूटर साइंस, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, ग्राफिक्स एंड ऑडियो डिजाइन,माइक्रोप्रोसेसर, ऑपरेटिंग सिस्टम तो इन सब्जेक्ट को पढ़ने के बाद आप कंप्यूटर के फिल्में किसी भी तरह का सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम डेवलपमेंटकरने के काबिल हो जाएंगे और हम जानेंगे एक कंप्यूटर साइंस में किस तरीके के करियर ऑप्शन मिलते हैं। तो कंप्यूटर साइंस के फिल्में पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट के फीचर प्रोस्पेक्ट शानदार होते हैं आजकल हम जिस दुनिया में रह रहे हैं। उस दिन टेक्नोलॉजी की दुनिया कहते हैं। यहां पर हर फूल टेक्नोलॉजी से जुड़ा हुआ है। और हर कोई इस पर डिफेंडिंग है इस तकनीकी को यह उन्नति के बिना हम आजकल के भविष्य की कल्पना नहीं कर सकते हैं। रोजाना नहीं स्नेक टेक्नोलॉजी से जुड़ी विकसित की जा रही है। पूरी दुनिया सॉफ्टवेयर कंपनीज और आईटी हर्ट्स की बढ़ती संख्या से इस बात का साफ साफ पता चलता है। कि तकनीकी क्षेत्र में बहुत तेजी से विकास हो रहा है। इस विकास की वजह से बेहतरीन कंप्यूटर साइंटिस्ट की मांग लगातार बढ़ रही है। कंप्यूटर साइंस में रोजगार बहुत से क्षेत्र है। जिसमें सॉफ्टवेयर कंपनीज, आईटी कंपनीज, बैंकिंग सेक्टर, कंसलटेंसीज, फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन, गवर्नमेंट एजेंसीज, स्कूल्स एंड कॉलेजेस आदि।

इन क्षेत्रों में प्रमुख नौकरियों की सूची यह है:

सॉफ्टवेयर डेवलपर कंप्यूटर सिस्टम एनालिस्टडेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटरवेब डेवलपर इनफॉरमेशन सिक्योरिटी एनालिस्ट कंप्यूटर नेटवर्क के आर्किटेक्ट कंप्यूटर एंड इनफार्मेशन रिसर्च साइंटिस्ट आईटी प्रोजेक्ट मैनेजर मोबाइल एप्लीकेशन टेलीकम्युनिकेशन मैनेजर सॉफ्टवेयर सिस्टम इंजीनियर आईटी ऑफीसर सिस्टम एडमिन लैब असिस्टेंट टीचर एंड लेक्चरर तो इन्हीं सारे ऑप्शन के साथ कंप्यूटर का उपयोग लगभग सभी क्षेत्रों में होने लगा है। जैसे शिक्षा अस्पताल या खेलऔर बिजनेस इस और साइन से और रिसर्च और इंटरटेनमेंट और गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशन और वेदर डिपार्टमेंट और बैंकिंग सेक्टर इत्यादि और यह जाहिर सी बात है। कि कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई की मांग भी टाइम के साथ साथ बढ़ती जाएगी इसीलिए अगर आप इस पर अपना करियर बनाने के बारे में सोच रहे हैं तो बेफिक्र होकर के आप कंप्यूटर साइंस से की पढ़ाई भी पूरी कर सकते हैं। आशा है कि इससे आपको पता लग गया होगा कि कंप्यूटर साइंस क्या है। और इसमें किस तरीके के कैरियर रोशन मिलते हैं। और इससे जुड़े पूरी जानकारी मिल गई होगी हमारी हमेशा से यही कोशिश रहती है। कि आपको यह गेम विषय को पूरी जानकारी प्राप्त हो सके ताकि आपको कहीं और नहीं जाना पड़े और कहीं और न भटकना पड़े।

Leave a Comment

Your email address will not be published.