IIT Exams Syllabus And Pattern / What is IIT Exam Syllabus

IIT With Full Information

तो दोस्तों आज हम बताने वाले हैं। आपको आईआईटी के बारे में इंजीनियरिंग की एजुकेशन प्राप्त करने के लिए आईआईटी इंस्टिट्यूट सबसे अच्छा माना जाता है। आईआईटी इंस्टीट्यूट है। प्रवेश गाना जितनी अच्छी बात है होती है। वह उतना ही कठिन होता है इसमें एंट्री के लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ती है। और इसीलिए हर साल लाखों स्टूडेंट मेहनत करते हैं। अगर आप भी इंजीनियरिंग फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं। तो आज आप हम बताने वाले हैं। माध्यम से बताएंगे कि आईआईटी क्या है। आईआईटी की पढ़ाई करने के फायदे क्या क्या है। और आईआईटी की तैयारी कैसे करें और इसकी पूरी जानकारी तो आइए सबसे पहले यह जानते हैं।

कि आईआईटी क्या है। आईआईटी इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कहते हैं। आईआईटी की परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है।यह स्नातक के लिए होती है। देश में कुल 23 आईआईटी कॉलेजेस हैजिनमें एंट्रीआईआईटी एग्जाम क्वालीफाई करने बाद होती हैयहां से इंजीनियरिंगकर के बहुत से लोग करोड़ों कापैकेज पाते हैं।आईआईटी कॉलेज के द्वारा अच्छे-अच्छे इंजीनियरिंग बनाए जाते हैं। और देश विदेश में जाकर काफी अच्छा पैसा भी कमाते हैं। आईआईटी परीक्षा मेंफिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ्स का क्वेश्चन पेपर होता हैऔर आईआईटी परीक्षा की तैयारी के लिए बहुत से प्रशिक्षणकेंद्र है। जिम में जाकर के आप तैयारी कर सकते हैं। आइए अब आगे जानते हैं। आईआईटी करने के क्या फायदे हैं तो सबसे पहले फायदायह गेट रिक्वेस्टयानी किइज्जत मिलनाजी हां अगर आप आयआयटी करते हैं। और आपकेफैमिली में या दोस्तों मेंइसके बारे में पता चलेतो आप उनके और अन्य लोगोंयह बीच में काफी इज्जत पाते हैं यह आपको काफी सम्मान मिलता हैदूसरा है गुडफैसिलिटी यानी कि आईआईटी के माध्यम से आपको काफी अच्छी सुविधाएं भी दी जाती हैआपको पढ़ने के लिएअच्छी लाइफ मिलती है और कंप्यूटर सेंटर की सुविधा भी मिलती है तीसरा है लर्न मोर थिंग्स यानी कि आईआईटी में स्टूडेंट को इंजीनियरिंग और रिसर्च के अलावा बहुत सी चीज 20 सीखने को मिलती है। आपको मैनेजमेंट फाइनेंस औरसोशलिस्ट के बारे में भी सिखाते हैं चौथा एप प्रोवाइड्स फ्री बेनिफिटयानी कि आपको आईआईटी के कैंपस से प्राइवेट रेस्टोरेंट है।

मैं आपको10से15%डिस्काउंट मिलता है।और फ्री डॉक्टरकंसल्टेशन की सुविधाभी मिलती हैपांचवा है। इसी प्लेसमेंट जो कि सबसे अच्छा है।आईटी करने के बाद आपको आसानी से अच्छी नौकरी मिल जाती है।और आपका अच्छे सेप्लेसमेंट भी हो जाता हैअगर फायदे इतने सारे हैं तो भाई इसके लिए योग्यता क्या होनी चाहिए यह काफी अच्छे सवाल है। और इसका जवाब है कि कुछ यूं है। कि कुछ योग्यता को देखा जाए तो दसवीं क्लास या 12वीं की कक्षा के अपने बोर्ड एग्जाम में टॉप 20 फीसदी अंक प्राप्त करने वाले छात्र इस परीक्षा में जा सकते हैं अभी इसके लिए 75 फ़ीसदी अंक अनिवार्य है यह समय पर बदलता रहता है। इस देश के सभी बोर्ड केमूल्यांकनके आधार पर तय किया जाता है अगर उम्र देखी जाए तो जिन लोगों का जन्म 1-10-1994 या उसके बाद का है। तो वह 2019 का एग्जाम दे सकते हैं। इसके लिए अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और विकलांग को कुछ छूट दिया जाता है आज बात करें एग्जाम की तो 2013 से आईआईटी की प्रवेश परीक्षा दो भागों में संपन्न कराई जाती है।

  1.  जी मैंस तथा दूसरा जी एडवांस सबसे पहले कोई स्टूडेंट अगर आईआईटी में आवेदन करना चाहता है। तो उसको सबसे पहले जी मैंस का पेपर देना होगा जेईई मेंस कव्वाली पांच हो जाने के बाद वह एडवांस के लिए आवेदन कर सकता हैलगभग हर साल डेढ़ लाख विद्यार्थी एडवांस एग्जाम में बैठते हैं। अब अगर हम थोड़ा थोड़ा सा डिस्टर्ब करें की एग्जाम का पैटर्न क्या होता है। तो इसमें आपको दो तरीके के पेपर देने होगे फर्स्ट पेपर BEE B Teach यानी कि इसमें मैथमेटिक्स केमिस्ट्री और फिजिक्स की 30-30 प्रश्न होते हैं। प्रत्येक वर्ष में 4 अंकों का होता है। तो मतलब कुल 90 प्रश्न होते हैं। तथा कुल पूणांक 360 अंकों का होता है।
  2. दूसरे पेपर की बात करें तो BR B Planning that is, 30 questions of Mathematics which are of 120 marks and 50 questions of Aptitude Test which is of 200 marks and 2 questions of Drawing Test which are of 70 marks and total time is 3 hours. आप अगर बात करें कि आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम में तैयारी कैसे की जाए जब आप आईआईटी एग्जाम की तैयारी शुरू करें तो अपने तुलना किसी से बिल्कुल भी ना करें यानी कि खुद से करें क्योंकि इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ता कि कोई क्या है। लेकिन आप क्या हो आपके लिए इस बात का बहुत फर्क पड़ता है। इसीलिए अपना ध्यान सिर्फ और सिर्फ खुद पर फोकस करें और अपना लक्ष्य और गोल बनाएगी मुझे आयआयटी एंट्रेंस एग्जाम मैं शॉप पर आना है तो बस से इसी हौसले से आप खुद को आगे बढ़ाते रहें दूसरी टिप्स यही है कि आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम अंक के लिए मैथ केमिस्ट्री और फिजिक्स के प्रश्न पूछे जाते हैं। तो ध्यान रखिए कि इन सब्जेक्ट को आप बेस्ट होना जरूरी है
  3.  जब भी आप तैयारी करें तो खुद का एग्जाम ले मॉडल पेपर को निर्धारित है समय पर पूरी ईमानदारी के साथ हल करें और खुद से अवलोकन भी करें कि आप कितना चाहिए
  4.  कि खुद के आत्मविश्वास के यानी कि आपकी कॉन्फिडेंस से को आप हमेशा ऊंचे रखें हो सकता है कि आपको एक ही चांस में सक्सेस से ना मिल पाए तो ऐसी सिचुएशन में अपने हौसले को कभी भी नीचे ना गिर ना दें बल्कि अपने गलतियों को सुधारें और आगे के लिए अपने आपको तैयार करें
  5.  कि किसी भी एग्जाम में निर्धारित समय ही हमारा राष्ट्रीयता और दिशा तय करता है। इसीलिए परीक्षा के मिलने वाले 3 घंटे का महत्व आप अच्छे से समझिए और कैलकुलेशन कीजिए और आपका उद्देश्य हो कि आपको इसी समय जो मिला है यानी कि 3 घंटे में आपको सारे क्वेश्चन कॉल करने ही है। तो बस अपने आप को उसके लिए तैयार करते रहिए
  6. अच्छी तैयारी के लिए अच्छी नींद अच्छे स्वास्थ्य काफी मायने रखता है। इसीलिए इन बातों को अच्छे से फॉलो करें ताकि आपको अपना उदाहरण उद्देश्य को पूरा करने के लिए हेल्प मिले|
  7. परीक्षा की तैयारी के न्यूज़ इंटरनेट ग्रुप है। चर्चा सफल छात्रों की इंटरव्यू भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं इसीलिए इन सब की मदद भी आप ले सकते हैं
  8. सक्सेस के लिए प्लानिंग बहुत जरूरी होती है इसीलिए आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए भी आपको आप पूरे घंटे पढ़ना है। क्या पढ़ना है और कब पढ़ना है और क्या करना है इन सभी बातों की अच्छे से लिस्ट जरूर बना ले और इसी शर्त और प्रतिशत है। यानी कि हंड्रेड परसेंट तरीके से अमल भी करें
  9. आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम के लिए 11th के 45% और 12वीं के 55% प्रश्न पूछे जाते हैं तो आप अपने इंटर की पढ़ाई भी ध्यान से रखते हुए करें ताकि आगे आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी मैं अच्छी खासी हेल्प मिल सके
  10. सक्सेस का कोई भी शॉर्टकट नहीं होता है। तो आप आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए विस्तार पूर्वक है। अध्ययन करें यानी कि छोटी सी छोटी चीजों पर भी ध्यान रखें और पूरे कंसंट्रेशन से के साथ पढ़ाई करें

अगर लास्ट में नजर मारे हमें जरूरी बातों पर तो इसमें प्रयासों की सीमा 3 तक होती है। नागालैंड उड़ीसा तथा Madhya Pradesh में कुछ अलग है। अगर आपको IIT का Exam देना है तो आप इसके लिए Latest Updates को हमेशा देखते रहे Year 2019 से IIT की Entrance Exam Held Twice की जाएगी एक बार जनवरी में और एक बार अप्रैल के महीने में पहले एग्जाम में बैठने के अधिकतम सीमा 3 बार तक थी लेकिन अब ऐसा माना जाता है। कि एक विद्यार्थी अधिकतम 6 बार इस परीक्षा में शामिल हो सकता है और यह बहुत अच्छी बात है तो आपको मेहनत करने की फोन लगाने के लिए काफी ज्यादा मौके मिल सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.