CLAT Exams Syllabus And Pattern / What is CLAT Exam Syllabus

CLAT Exam With Full Information

What is CLAT Exam 

इसीलिए आज हम आपके लिए ऐसी एग्जाम की डिटेल लेकर आए हैं| जो आपके सपने को पूरा करने में बहुत मदद कर सकता है उसका नाम है क्लैट एग्जाम इसीलिए आप देख लो करना चाहते हैं| और लो फील्ड में ही बनाना चाहते हैं तो यह इंफॉर्मेशन इसी के लिए इसे पूरा जरूर पढ़ें चलिए शुरू करते हैं सबसे पहले की क्लैट एग्जाम क्या है|कलेक्ट का फुल फॉर्म है कॉमन लॉ ऐडमिशन टेस्ट यह नेशनल लेवल एंट्रेंस एग्जाम होता है| जॉकी ऑफलाइन होता है यह एक्जाम उन कैंडिडेट के लिए कंडक्ट किया जाता है जोअंडर ग्रेजुएटऔर पोस्ट ग्रेजुएटदो प्रोग्रेस मेंएडमिशन लेना चाहते हैं हर साल नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी की 2900 सिटीज मैपएक सिटी पानेके लिए लगभग 8000 कैंडिडेटकलेक्टर एग्जामदेते हैं वैसे 2020 यह एग्जाम लास्ट वीक में होगा और दो हजार अट्ठारह तक नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी द्वारा क्लैट एग्जाम रोटेशनल बेसिस पर हुआ करता था|लेकिन 2019 से इस काम के लिए यूनिवर्सिटी द्वारा एक परमानेंट बॉडी बना दी गई है जिसका नाम है| The Consortium of NLUS स्काहाई क्वार्टर नेशनल लॉ स्कूल आफ इंडिया यूनिवर्सिटी यानी कि बेंगलुरु में है|परमानेंट बॉडी इन सब से मिलकर बनी है An executive committee the Clat covenor of the current year the collate convenor of the Following year Two co-opted Vice -Chancellor of NLUs चॉकलेट क्या है यह जानने के बादअब बात करते हैं तो इस एग्जाम में अपीयर होने के लिए क्राइटेरिया क्या है तो कैंडिडेट का 10+2 एग्जाम नेशनल या state board of education से Clear करना जरूरी है General OBC और स्पेशल एबल्डकैटेगरी के लिए मिनिमम 45 परसेंट लाना जरूरी है जबकि ACC and ACT कैटेगरी के लिए 40 परसेंट मार्क्स कंपलसरी है तो लिमिट की बात की जाए तो प्लेट 2020 देने वाले कैंडिडेट्स के लिए यह गुड न्यूज़ है एक कलेक्टर एग्जाम से एज लिमिट क्राइटेरिया रिमूव कर दिया गया है यानी अब किसी भी एज में आप क्लैट एग्जाम दे सकते हैं क्लैट एग्जाम को क्लियर करके अपने इसको के अकॉर्डिंग इन में से किसी एक को में एडमिशन ले सकते हैं|

बीए एलएलबी (बैचलर ऑफ अलर्ट एलएलबी) बी. कॉम एलएलबी (बैचलर ऑफ कॉमर्स एलएलबी) बीएससी एलएलबी (बैचलर ऑफ साइंस एलएलबी) बीबीए एलएलबी (बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन एलएलबी) बीएसडब्ल्यू एलएलबी (बैचलर ऑफ सोशल वर्क एलएलबी) ( master of laws) तो क्लेट एग्जाम इंडिया की 22 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी और 50 से भी ज्यादा प्राइवेट लॉ कॉलेज में एडमिशन के लिए कंडक्ट किया जाता है प्लेट से जुड़ी रिलेटेड नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी यह है| to is tarike Se Hain National Law School of India University Bangalore National Academy of legal studies and research(NALSAR) University of law Hyderabad the West Bengal National University of juridical Sciences Kolkata National Law Institute University Bhopal National Law University Jodhpur hidayathulla National Law University Raipur Gujarat National Law University Gandhinagar doctor Mohra Lohiya नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी लखनऊ ,राजीव गांधी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ पटियाला चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी पटना नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ एडवांस लीगल स्टडीज, कोच्चि नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी ओडिशा कटक नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडी एंड रिसर्च इन लॉ रांची नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी एंड ज्यूडिशियल एकेडमी असम दामोदरम संजीवया नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी ( DSNLU) विशाखापत्तनम। तमिलनाडु नेशनल लॉ स्कूल, तिरुचिरापल्ली महाराष्ट्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी
 Mumbai Maharashtra National Law University Nagpur Maharashtra National Law University e e Aurangabad Himachal Pradesh National Law University Shimla Dharamshala National Law University Jabalpur Doctor BR Ambedkar National Law University Sonipat Haryana तो यह सारे नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी सीजी जहां से आप Clat कर सकते हैं जिसके साथ clat एग्जाम पैटर्न की बात की जाए तो ऑफलाइन होने वाले एग्जाम की ड्यूटी सन 2 घंटे की होती है एग्जाम में अंडरग्रैजुएट कोर्सेज से रिलेटेड हैक्वेश्चन पेपर में मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन हो गए और पोस्ट ग्रैजुएट कोर्सेज से रिलेटेड पेपर में ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव दोनों टाइप के क्वेश्चन शामिल होगे इस एग्जाम में ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन का गलत आंसर देने पर नेगेटिव मार्केट भी होगी इस एंट्रेंस एग्जाम में टोटल 200 क्वेश्चन पूछे जाते हैं| और हर क्वेश्चन 1 मार्क का होता है इंग्लिश के 40 क्वेश्चन जनरल नॉलेज एंड करंट अफेयर्स के 50 क्वेश्चन एलिमेंट्री मैथमेटिक्स के 20 क्वेश्चन लेवल एटीट्यूड के 50 और लॉजिकल रीजनिंगके 40 क्वेश्चन आते हैं| क्लैट एग्जाम से रिलेटेड सभी जानकारी लेने के बाद यह जान लेना भी फायदेमंद रहेगा कि एग्जाम को करेक्ट करने के लिए किस तरीके से तैयारी कैसे करनी चाहिए यह तो आप भी जानते हैं कि हमारी एग्जाम प्रिपरेशन बहुत अच्छी हो लेकिन हम इस एग्जाम में अच्छा परफॉर्मेंस नहीं कर पाए तो सारी मेहनत  बेकार चली आती है इसीलिए सिर्फ मेहनत करने पर ही फोकस ना करेंबल्किपेपर को सॉल्व कर पाए की टेक्निक को भी समझिए जिसमें आप पैरेट किस करेंगेउतना ही आपके काम आएगी मैट्रिक्स की शार्ट ट्रिक्स भी रेडी रखिएक्लैट एग्जाम में आपको 2 घंटे यानी 120 मिनट में 200सवाल सॉल्व करने होते हैं ऐसे मैं अगर आप मैच में अच्छी कमांड रखते हैं 200 के टाइम में मतलब कम टाइम में आंसर निकाल सकते हैं तो काफी समय बाकी सब्जेक्ट के लिए बचा सकते हैं| जनरल नॉलेज पर गहरी पकड़ होनी जरूरी है क्लैट एग्जाम में जनरल नॉलेज में भी 50 सवाल आते हैंअगर करंट अभ्यास मेंआपको उंगली पर याद हो गएबिना टाइम गवाएंसही आंसर दे पाएंगेऔर समय भी बचा पाएंगेसाथी इंग्लिशरीडिंग की प्रैक्टिस कोयह भी इंपोर्टेंट है इसमें अगर आपकी रीडिंग स्किल अच्छी होगी तो तो इसके क्वेश्चन आप सही से समझ पाएंगेऔर कम समय में आंसर दे पाएंगे इसीलिए इंग्लिश ग्रामर के साथ-साथ रीडिंग पर भी मेहनत कीजिएऔर हां साथीही लॉजिकल रीडिंग की प्रैक्टिस भी आपकोकरनी चाहिएलॉजिकल रीजनिंग कोचुटकियों में हल कर पाने का एक हीतरीका हो सकता हैवह है सिर्फ ही सिर्फ प्रैक्टिस आप जितनाप्रैक्टिस करेंगे आप उतना ही जल्दी एग्जाम में सवाल दे पाएंगे और इसमें गलती के चांसेस भी कम से कमहोगेऔर आगे है लीगल ऑपरेटिव को समझना भी जरूरी हैकलेक्ट का एग्जामलो का एग्जाम है| तो इसमें लीगल एटीट्यूड का होनाजरूरी है ही ऐसे में इस सब्जेक्टके कांसेप्ट को अच्छे से समझने के बादआप इसे सॉल्व कर पाएंगेजिसके लिए आप किसी से भी हेल्प ले सकते हैं इन सभी सब्जेक्ट की तैयारी लेने के बाद आदमी ऑफ सब्जेक्ट भी जरूरी है ताकि आपको अपनी वीकनेस पता चले एग्जाम से पहले अगर आप ऐसा करते हैं| तो डीयर भी नहीं रहेगा और आप कॉन्फिडेंट फील करेंगे साथ ही हर सब्जेक्ट के अलग-अलग है स्टडी होते हैं इसका भी ख्याल रखना होगा एग्जाम की तैयारी के लिए आप हर सब्जेक्ट को दोहराने की कोशिश करें क्योंकि आप हर सब्जेक्ट को रखने की कोशिश ना करें क्योंकि इस एग्जाम के पेपर्स को तैयार कर सकते हैं| जबकि कुछ सब्जेक्ट है को प्रैक्टिस और समझ कर के ही तैयार किया जा सकता है इसीलिए हर सब्जेक्ट है तैयार करने का सही तरीका यह है| कि जब तक प्रैक्टिस करते रहिए आप किसी कांसेप्ट के स्पोर्ट ना बन जाए पेशेंट और कॉन्फिडेंसभी जरूरी है एग्जाम देने के लिए किसी एग्जाम की तैयारी करते हुए अपने आप पर पैशन रखना और खुद पर यकीन बनाए रखना अभी बहुत है होना जरूरी होता है तभी एग्जाम के दौरान माइंड स्टेबल रहता है| को सही तरीके से क्वेश्चन को अटेंड कर करता है इसीलिए कंप्लेंट से के लिए और एग्जाम को करेक्ट करने के लिए जोश बनाए रखिए तो दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आपको CLAT के बारे में पढ़कर अच्छा लगा होगा|

Leave a Comment

Your email address will not be published.