B. Pharma Exams Syllabus And Pattern / What is B. Pharma exam Syllabus

B. pharma With Full Information

तो दोस्तों सबसे पहले बात कर लेते हैं B. Pharma क्या है। और Form की Full Form है। Bachelor of Pharmacy यह Under Graduate pharmacy Course है। इस Degree Course Duration 4 year की होती है जिसमें हर institute के हिसाब 6 से 8 सेमेस्टर से किया जा सकता है। फार्मेसी एक ऐसा साइंस है। जिसके कहते मेडिसिन से जुड़े रिसर्च और टेस्ट किए जाते हैं। हर बार जब किसी बीमारी के लिए इलाज खोजे जाता है। तो फार्मेसीवह फील हैजो उस इलाज के लिए बनाई गई दवाई को टेस्ट करता है। उन पर रिसर्च करता हैताकि उस मेडिसिन के इफेक्ट से और साइड इफेक्ट स्कोर जाना जा सके और उसे ट्रीटमेंट के लिए उपलब्ध कराया जा सके फार्मेसी हेल्थकेयर इंडस्ट्री का बहुत ही इंपॉर्टेंट पार्ट होता है यह न केवल मेडिसिंस की टेस्टिंग करता है। बल्कि मेडिसिन को डिवेलप करने मैन्युफैक्चर करनेऔर मार्केट मेंसप्लाई करने का काम भी करता है। तो B.Pharma क्या है| यह जान लेने के बाद अब Know हैं।

What is the Criteria Exactly for doing B Pharma

बी फार्मा कोर्स ए एडमिशन लेने के लिए आपका हाय सेकेंडरी पास करना यानी 10+2 करना जरूरी है इसमें आपके सब्जेक्ट PCM, PCB कोई भी होना चाहिए इसके अलावा जिस इंस्टीट्यूट या यूनिवर्सिटी से आप यह कोर्स करना चाहते हैं वहां एडमिशन का मिनिमम मार्क्स क्राइटेरिया भी अलग अलग हो सकता है। जिसे आप को फॉलो करना होगा और अब आगे बात करते हैं एडमिशन प्रोसेस के बारे में बहुत सी यूनिवर्सिटी बी फार्मा मेंएडमिशन के लिएएंट्रेंस टेस्ट ऑर्गेनाइज कर दी है जिसके बाद ग्रुप डिस्कशनपर्सनल इंटरव्यू और काउंसलिंग भी होती है कुछ एंट्रेंस टेस्ट है। BHU B Pharmacy Entrance Test, MHT CET Entrance Test ,GPAT Entrance Test, WBJEE Entrance Test,BITSAT Entrance Test तो बी फार्मेसी गेट सब्जेक्ट क्या होते हैं। आइए यह भी जानते हैं बायोकेमेस्ट्री हुमन एनाटॉमी एंडफिजियोलॉजी फार्मास्यूटिकल बायोटेक्नोलॉजी फार्मास्यूटिकल मैथ्स बॉयोस्टैटिसटिक्स और इसके साथ है।बैचलर ऑफ फार्मेसी केस्पेशलाइजेशन इसकी बात करें तो फार्मसीटीएल केमिस्ट्री फार्मास्यूटिकल टेक्नोलॉजी क्लिनिकल फार्मेसी आयुर्वेद फार्मास्यूटिक्स फार्मेसी प्रैक्टिस फार्माकोग्नोसी फार्मोकोलॉजी फार्मास्यूटिकल एनालिसिस एंड क्वालिटी एश्योरेंस इसी के साथ आगे जानते हैं।

Some of the best colleges in India

इंडिया के कुछ बेहतरीन कॉलेजेस के बारे में जोकि बी फार्मेसी कोर्स अवेलेबल करवाते हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेस चंडीगढ़ , इंस्टीट्यूट आफ केमिकल टेक्नोलॉजी मुंबई,मणिपाल कॉलेज आफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, दा निलगिरी से तमिलनाडु फार्मेसी कॉलेज, जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी, इंटीग्रल यूनिवर्सिटी लखनऊ, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी वाराणसी,एमिटी यूनिवर्सिटी नोएडा,बॉम्बे कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, मुंबई, अमृता स्कूल ऑफ़ फार्मेसी,कोच्चि,श्री राम चंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन एंड रिसर्च, चेन्नई,और इसी के साथ महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ बरोड़ातो बी फार्मा कोर्स करने के लिए स्टूडेंट में बात की जाए कौन-कौन से स्किलहोनी चाहिएतो वैसे तो हर स्टूडेंट का माइंड होना डिसिप्लिन होना जरूरी होता है। लेकिन बी फार्मा कोर्स सिक्योरिटीके साथ साथ है प्रैक्टिकल कोर्स बियरजिसमें एनिमेशन और रिसर्च काफी ज्यादा होता है तो ऐसे में स्टूडेंट का मेडिसिनऔर साइंटिफिक रीजन में इंटरेस्ट को अंडरस्टैंडिंग होनी चाहिए साथ ही डिटेल में नेशन और कंसिस्टेंट तो हर फील की जरूरत है होती है और अब बारी आई है।

बी फार्मा कोर्स करने से स्टूडेंट को क्या बेनिफिट्स हो सकते हैं।

बी फार्मा की डिग्री लेने के बाद स्टेट फार्मेसी काउंसिल मैं रजिस्टर करने के बाद आपने केमिस्ट्री या फार्मेसी कोर्स ए खोली जा सकती है। यानी 1 डिग्री कोर्स करने के बाद अपने इंटरेस्ट का बिजनेस यानी कि मेडिसिन की फिल्म मैं अपनी शुरुआत कर सकते हैं। बी फार्मा करने के बाद अगर आप चाहे तो मास्टर्स डिग्री भी ले सकते हैं। जिससे आप किसी सब्जेक्ट में स्पेशलाइजेशन हासिल कर लेंगे और आपको मिलने वाली जॉब वर्जिनिटी और कैरियर काफी ज्यादा बढ़ जाएंगे अगर स्टूडेंट टीचिंग के फिल्म में जाना चाहे तो बी फार्मा के बादलेक्चरर बनने की रा आपके लिए खुली हुई है। वैसे बी फार्मा डिग्री पूरी करने के बाद आप चाहे तो इनमें से कोई कोर्स कर सकते हैं MBA, M. Pharma यानी कि मास्टर ऑफ फार्मेसी, कोर्स इन क्लिनिकल रिसर्च, ड्रग स्टोर मैनेजमेंट कोर्स, M. SC फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री, मैनेजमेंट प्रोग्राम इन फार्मेसी, पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन क्लिनिकल ट्रायल मैनेजमेंट, इसी के साथ आप जानते हैं।

बी फार्मा करने के बाद अब कौन कौन से एरिया में जॉब पा सकेंगे

हॉस्पिटल फार्मेसी,क्लिनिकल फार्मेसी, मेडिकल डिस्पेंसिंग स्टोर, रिसर्च एजेंसी,, फूड और ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन, सेल्स और मार्केटिंग डिपार्टमेंट,हेल्थ सेंटरऔर इसी के साथअब बारी है। बी फार्माके बदलने वाले जॉब ऑप्शन के बारे में जानने कीतो आप बन सकते हैं एनालिटिकलकेमिस्ट, हेल्थ इंस्पेक्टर, ड्रक्स थैरेपिस्ट, कस्टम ऑफिसर, डाटा मैनेजर, रेगुलेटरी मैनेजर, टीचर, हॉस्पिटल ड्रगऑर्डिनेटर,केमिकल टेक्नीशियन, फार्मा सिटी कल साइंटिस्ट, क्वालिटी कंट्रोल एसोसिएट और काफी सारे ऑप्शन है। आपके पास वैसे बी फार्मा डिग्री को डिक्रीज रूट करने वाले इंडियन रिक्रूटर्स की बात की जाए तो यह है। Cipla, Piramal, Dr. Reddys, Lupin, Sun Pharmacy, BinduMadhav Pharma और इसी के साथ बी फार्मेसी डिग्री उसको रिक्रूट करने के लिए कॉफी इंटीग्रेशन recruiters भी होते हैं इंडिया की फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री बहुत तेजी से गर्म कर रही है। और इस हिसाब से बहुत जल्द इस इंडस्ट्रीमैंट्रेन प्रोफेशनल कीडिमांड बढ़ जाएगीक्योंकि गवर्नमेंट डिपार्टमेंट ऑफ फार्मास्यूटिकलने इंडिया को इस फील मैं जरा हद बनाने के लिए यूनी सूचक दिया है। फेमस 2020 उसके बाद यह इंडस्ट्री वन ऑफ द फ्लाईविंग इंडस्ट्री के रूप में सामने आएगी|

Salary :

जहां तक सैलरी की बात है। तो बी फार्मा डिग्री सैलरी की बात है। तो यह जॉब ऑप्शन और फील पर डिपेंड करेगी पर अभी अंदाजे से बताया जा सकता है। की प्रेशर के तौर पर बी फार्मा करने के बाद आप 10 से 15000 रुपए हर महीने सैलरी पा सकते हैं। और आपकी इंस्टिट्यूट है बहुत एक्सपीरियंस के साथ आपको यह सैलरी बढ़ती ही जाएगी मतलब आगे आपकी स्किल है आप का तरीका है कि आप अपने आप को कैसे ग्रो कर सकते हैं आप भी फार्म से जुड़ी सभी जानकारी ले चुके हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.